67 CASES FOUGHT BETWEEN HUSBAND AND WIFE WHEN CHILD BEING ABDUCTED , ALIENATED BY A DISGRUNTLED 498a WIFE IN SUPREME COURT IF INDIA. HUSBAND SLAPPED 58 CASES OUT OF 67 #NewsTrendingNow #तहलकाखबर वर्ल्ड रिकॉर्ड की ओर पति पत्नी के बीच में 67 केस की लड़ाई पत्नी ने ने किए 9 केस पति ने किए 58 केस 

ALLMOST A WORLD RECORD OF 67 CASES FOUGHT BETWEEN HUSBAND & WIFE WHEN CHILD BEING ABDUCTED & ALIENATED BY A DISGRUNTLED 498a WIFE HUSBAND SLAPPED 58 CASES OUT OF 67 #NewsTrendingNow #तहलकाखबर वर्ल्ड रिकॉर्ड की ओर पति पत्नी के बीच में 67 केस की लड़ाई पत्नी ने ने किए 9 केस पति ने किए 58 केस 
Share this story with shirt links 

FB : http://bit.ly/67CasesInCouple498a

BLOG :

67 केस औऱ पती पत्नी सुप्रीम कोर्ट में, 58 केस ठोके पती ने पत्नी पे और 9 केस 498 a पत्नी ने पति पर। वर्ल्ड रिकॉर्ड न्यूज़ औऱ जज हुए हैरान और तंग बोले नहीं देखा कभी ऐसा कलयुग | 

पति का जवाबी 58 केस का थप्पड़ भारत के बदलते समाज और महिलाओं के झूठे केसों के बढ़ते समाज जवाब में है

67 Cases filed between Husband & Wife in Supreme Court. 58 cases slapped by NRI husband and 9 by a 498a wife. A world record news made Judges stuck worth surprise and awe. The slap of 58 cases filed by husband on recieving false and baseless cases of DV 498a by Husband from a disgruntled wife is clear exaple of a majestic reply by aggrived and alienated fathers and husband’s to the Indian society and meanace of outdated 498 a DV laws misused by women these days.

67 Cases filed between Husband & Wife. Man a NRI slaps hard with 58 cases in Supreme Court on being alienated as father and decieved by wife who filed 9. The child custody being the subject of case after child being abducted by mother and leaving home without permission of husband. Not a new story in India where many Disgruntled Women are misusing outdated laws like 498A DV etc . Supreme Court was struck at awe and shock to know the nos. 
पति-पत्नी ने लड़ाई के बाद एक दूसरे पर ठोंके 67 मुकदमे तो जज बोले-हुजूर हमारी जान तो छोड़ो
मियां-बीवी के बीच तकरार इतनी बढ़ी कि एक दूसरे पर ताबड़तोड़ 67 मुकदमे कर दिए।

पति-पत्नी  ने लड़ाई के बाद एक दूसरे पर ठोंके 67 मुकदमे तो जज बोले-हुजूर हमारी जान तो छोड़ो

इंडिया संवाद ब्यूरो

23 April 2017 03:53

नई दिल्ली: पति-पत्नी के झगड़े की बात आम है, लेकिन इस बार ऐसा ही एक मामला सुप्रीम कोर्ट में पहुंचा तो जज भी ऊब गए. पति-पत्नी ने एक दूसरे पर अब तक 67 मुकदमा कर चुके हैं. भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिक ने भारत में पत्नी के खिलाफ 58 मामले दर्ज कराए हैं. इसके जवाब में पत्नी ने पति पर 9 मुकदमे दर्ज कराए हैं. ज्यादातर मुकदमे दहेज उत्पीड़न, घरेलु हिंसा, अवमानना, बच्चों की कस्टडी आदि को लेकर हैं. सुप्रीम कोर्ट के पास 67वां मामला इस दंपती के 8 साल के बच्चे की कस्टडी को लेकर पहुंचा है. पति-पत्नी के एक-दूसरे पर इतने सारे मुकदमे देखकर न्यायमूर्ति कूरियन जोसफ और न्यायमूर्ति आर भानुमति की पीठ दंग रहे गए.
मामले की सुनवाई के दौरान जज कूरियन जोसफ ने कहा, ‘मैंने अपने पूरे लीगल कॅरियर में पति-पत्नी पर एक-दूसरे पर इतनी बड़ी संख्या में मुकदमा दर्ज करने की बात कभी नहीं सुनी.’ वहीं जज जोसफ ने पुरानी बात याद करते हुए बताया कि एक दंपती ने एक-दूसरे पर 36 मुकदमा किए थे.
जानें इस अनोखे मुकदमें से जुड़ी महत्वपूर्ण बातें-:
– सुप्रीम कोर्ट ने पति-पत्नी और उसके आठ वर्ष के बच्चे को 27 अप्रैल को अदालत में पेश होने के लिए कहा है.
– अंतरिम आदेश तक पिता अपने बेटे से हर शनिवार और रविवार आठ बजे सुबह से शाम सात बजे तक मिल सकेंगे.
– इस दंपती की शादी मई, 2002 में बेंगलुरु में हुई थी.
-शादी के बाद दंपति अमेरिका में बस गए थे.
-साल 2009 में बेटे के जन्म के साथ ही पति-पत्नी में झगड़ा शुरू हो गया.
– पति से अलग होकर पत्नी बेंगलुरु लौट आई, जिसके बाद दोनों ने एक-दूसरे पर 67 मुकदमें करना शुरू कर दिया.
#498aWIFE ,#SlapItHard #DusgruntledIndianWomenMisusingLaws , #FalseDVcasesInIndia #498a #iComCra

Gallery

67 CASES FOUGHT BETWEEN HUSBAND & WIFE WHEN CHILD BEING ABDUCTED , ALIENATED BY A DISGRUNTLED 498a WIFE IN SUPREME COURT IF INDIA. HUSBAND SLAPPED 58 CASES OUT OF 67 #NewsTrendingNow #तहलकाखबर वर्ल्ड रिकॉर्ड की ओर पति पत्नी के बीच में 67 केस की लड़ाई पत्नी ने ने किए 9 केस पति ने किए 58 केस 

ALLMOST A WORLD RECORD OF 67 CASES FOUGHT BETWEEN HUSBAND & WIFE WHEN CHILD BEING ABDUCTED & ALIENATED BY A DISGRUNTLED 498a WIFE HUSBAND SLAPPED 58 CASES OUT OF 67 #NewsTrendingNow #तहलकाखबर वर्ल्ड रिकॉर्ड की ओर पति पत्नी के बीच में 67 केस की लड़ाई पत्नी ने ने किए 9 केस पति ने किए 58 केस 
Share this story with shirt links 

FB : http://bit.ly/67CasesInCouple498a

BLOG :

67 केस औऱ पती पत्नी सुप्रीम कोर्ट में, 58 केस ठोके पती ने पत्नी पे और 9 केस 498 a पत्नी ने पति पर। वर्ल्ड रिकॉर्ड न्यूज़ औऱ जज हुए हैरान और तंग बोले नहीं देखा कभी ऐसा कलयुग | 

पति का जवाबी 58 केस का थप्पड़ भारत के बदलते समाज और महिलाओं के झूठे केसों के बढ़ते समाज जवाब में है

67 Cases filed between Husband & Wife in Supreme Court. 58 cases slapped by NRI husband and 9 by a 498a wife. A world record news made Judges stuck worth surprise and awe. The slap of 58 cases filed by husband on recieving false and baseless cases of DV 498a by Husband from a disgruntled wife is clear exaple of a majestic reply by aggrived and alienated fathers and husband’s to the Indian society and meanace of outdated 498 a DV laws misused by women these days.

67 Cases filed between Husband & Wife. Man a NRI slaps hard with 58 cases in Supreme Court on being alienated as father and decieved by wife who filed 9. The child custody being the subject of case after child being abducted by mother and leaving home without permission of husband. Not a new story in India where many Disgruntled Women are misusing outdated laws like 498A DV etc . Supreme Court was struck at awe and shock to know the nos. 
पति-पत्नी ने लड़ाई के बाद एक दूसरे पर ठोंके 67 मुकदमे तो जज बोले-हुजूर हमारी जान तो छोड़ो
मियां-बीवी के बीच तकरार इतनी बढ़ी कि एक दूसरे पर ताबड़तोड़ 67 मुकदमे कर दिए।

पति-पत्नी  ने लड़ाई के बाद एक दूसरे पर ठोंके 67 मुकदमे तो जज बोले-हुजूर हमारी जान तो छोड़ो

इंडिया संवाद ब्यूरो

23 April 2017 03:53

नई दिल्ली: पति-पत्नी के झगड़े की बात आम है, लेकिन इस बार ऐसा ही एक मामला सुप्रीम कोर्ट में पहुंचा तो जज भी ऊब गए. पति-पत्नी ने एक दूसरे पर अब तक 67 मुकदमा कर चुके हैं. भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिक ने भारत में पत्नी के खिलाफ 58 मामले दर्ज कराए हैं. इसके जवाब में पत्नी ने पति पर 9 मुकदमे दर्ज कराए हैं. ज्यादातर मुकदमे दहेज उत्पीड़न, घरेलु हिंसा, अवमानना, बच्चों की कस्टडी आदि को लेकर हैं. सुप्रीम कोर्ट के पास 67वां मामला इस दंपती के 8 साल के बच्चे की कस्टडी को लेकर पहुंचा है. पति-पत्नी के एक-दूसरे पर इतने सारे मुकदमे देखकर न्यायमूर्ति कूरियन जोसफ और न्यायमूर्ति आर भानुमति की पीठ दंग रहे गए.
मामले की सुनवाई के दौरान जज कूरियन जोसफ ने कहा, ‘मैंने अपने पूरे लीगल कॅरियर में पति-पत्नी पर एक-दूसरे पर इतनी बड़ी संख्या में मुकदमा दर्ज करने की बात कभी नहीं सुनी.’ वहीं जज जोसफ ने पुरानी बात याद करते हुए बताया कि एक दंपती ने एक-दूसरे पर 36 मुकदमा किए थे.
जानें इस अनोखे मुकदमें से जुड़ी महत्वपूर्ण बातें-:
– सुप्रीम कोर्ट ने पति-पत्नी और उसके आठ वर्ष के बच्चे को 27 अप्रैल को अदालत में पेश होने के लिए कहा है.
– अंतरिम आदेश तक पिता अपने बेटे से हर शनिवार और रविवार आठ बजे सुबह से शाम सात बजे तक मिल सकेंगे.
– इस दंपती की शादी मई, 2002 में बेंगलुरु में हुई थी.
-शादी के बाद दंपति अमेरिका में बस गए थे.
-साल 2009 में बेटे के जन्म के साथ ही पति-पत्नी में झगड़ा शुरू हो गया.
– पति से अलग होकर पत्नी बेंगलुरु लौट आई, जिसके बाद दोनों ने एक-दूसरे पर 67 मुकदमें करना शुरू कर दिया.
#498aWIFE ,#SlapItHard #DusgruntledIndianWomenMisusingLaws , #FalseDVcasesInIndia #498a #iComCra

Gallery

कोहनी पर टिके लोग, टुकड़ो पर बिके लोग .. 

Kohni Par Tikey Log, Tukdon Par Bikey Log ..

Share Short Link http://wp.me/p8e2AE-kG

#ShayariLab™ ©#CuratedMediaTV

http://CuartedMediaTV.wordpress.com

#CMTV #SDBFS #SDBWP™

Quote

Heights of Brutality , Harshness of a mother harassing in laws for want of property in her name and dominating in laws family with her cruel actions . Even tried to kill child before and take full control of family. The gender biased laws like 498a , DV are the motivation – iCOM & CRA NGO. Soon a change is must 

If this menace has to be controlled wicked women like this should be brought into radar of string gent laws

The same.motjer in the video have also tried to kill the kid before and a case has allready been filed before in 5 years of marriage. But police compromised the matter.
Point is why it should be compromised it should have been punishment for such women in first place . How can a women be allowed to tortire entire family like this. She is so cruel and violent she should have been jailed earlier only .
Even leniency towards women in law and courts should be stopped and more gender equal society should be encouraged with fare laws.

Video

Pre Marital Sex Laws misused as Rape can not be claimed in courts – Mumbai High Court – CMTV 50 RVCJ

The judge also showed concerns towards the changing society and how high morals needed to be followed by the people. She said,

“Since generations, there is a moral taboo that it is the responsibility of a woman to be a virgin at the time of marriage. However, today, the young generation is exposed to different interactions with each other and is well informed about s*xual activities. Society is trying to be liberated but carries baggage of different notions of morality wherein s*x before marriage is a matter of censure. Under such circumstances, a woman who is in love with a boy forgets that to have s*x is her option like her counterpart’s but refuses to take responsibility for her decision.”

The bench also talked about increasing number of cases of rapes which are filed after the relationship between the couple ends and emphasized that the court should also focus on the liberty with the life of the accused while it should also keep in mind what the girl is going through.

It also talked about its previous order in which it was stated that a major and educated lady should know the results of pre-marital intimate relationship.
Kya Baat … Kya Baat … India ka gender biased kanoon badal raha hai …Tabhi toh desh ki hypocrisy badlegi .. 

NGO sharing this :

International Coalition of Men & Child Rights Activists ® iComCra ™
Source : RVCJ 
#iComCra 

#CMTV

#CuratedMediaTV

Pre Marital Sex Laws misused as Rape can not be claimed in courts – Mumbai High Court – CMTV 50 RVCJ